​मकान मालिक का भूत

दोस्तों आज मे आपके लिए जो कहानी ले के आई हूं वो है ऐसे इंसान की जो मरने  के बाद भी अपने घर को छोड़ नही पाया ……..क्योंकि दोस्तों हम सभी जानते है कि हमे अपना घर बहुत प्यारा होता हैं चाहे छोटा हो या बड़ा। तो आइए जानते हैं इस रहस्मयी कहानी के बारे में। ​मकान मालिक का भूत

दोस्तों यह घटना गुजरात राज्य के जिला-जामनगर के नगर- जाम-खंभालिया की है। आज से लगभग 60 वर्ष पहले जाम-खंभालिया नगर में नागरपाड़ा विस्तार में पमिनाबहन और शांताबहन के परिवार रहते थे। पमिनाबहन की उम्र 80 साल के करीब थी और उन्हे एक पुत्री थी। जिनका नाम पूरीबहन था। परिवार में दो बेटे भी थे।

दोस्तों पमिनाबहन जिस मकान में रहती थीं उस मकान में अचानक अजीबो-गरीब घटनायेँ होने लगीं। जैसे कि –

दोपहर के समय अचानक चूल्हे का जल जाना।

बरामदे में पड़ी खाट अचानक जमीन से ऊपर हो जाना।

चाय पकने की सुगंध आने लगना।

बरतन गिरना।

और डरावनी आवाज़े आना, आदि।

दिन प्रति दिन यहाँ अजीब-अजीब घटनाएँ बढने लगी, और पूरा परिवार इस खौफ के साथ जीने लगा। पमिनाबहन के परिवार ने बहुत से पाठ पूजा, मंत्र हवन, करने से ले कर ओझा, ज्योतिष, सभी के दरवाजे खटखटाये पर पारलौकिक भुतहा घटनाएँ घटने की वजाये बढने लगीं।

READ :  मरने के बाद भी किया अपना बादा पूरा - A Horror Story

अंत में  थक हार कर पमिनबहन और उनके परिवार ने घर छोड़ के वहाँ से चले जाने का फैसला कर लिया। पमिनाबहन और उनकी बेटी अपना सामान बांधने लगीं। तभी उनके पड़ोसी शांताबहन आयीं और समझया कि घर छोड़ कर जाना कोई उपाय नहीं है, समस्या से भागने की बजाय उसका सामना करना चाहिए।  उन्होंने शांताबहन की सलाह मान ली  फिर पमिनाबहन और उसका परिवार ने हिम्मत जोड़ कर रुकने का फेसला कर लिया। और उसके बाद घर पर होने वाली असामान्य घटनाओं को नज़रअंदाज़ करना शुरू कर दिया। ऐसा करने पर दिन प्रति दिन असामान्य गतिविधियां घटने लगीं और उसके बाद पमिनाबहन के परिवार का जीवन सामान्य होने लगा।

READ :  ​​एक शापित बस्ती...जहा मौत भी आ जाए तो.......!!!!

नगर में पमिनाबहन के अनुभव की बात फैलने पर नगर के किसी अनुभवी व्यक्ति के द्वारा यह पता चला कि जिस मकान में पमिनाबहन का परिवार रहता है, उस जगह के पुराने मालिक के पास से, उसके सगे संबंधियों ने वह मकान हड़प लिया था। और मरते वक्त भी मकान मालिक का जी उसी मकान में था, इसी कारण वह इन्सान अपने मकान में किसी भी व्यक्ति की मौजूदगी बर्दाश्त नहीं कर पाता था।

पमिनाबहन और उनके परिवार को यह हकीकत पता चलते ही, वह लोग मकान मालिक की अतृप्त आत्मा की मुक्ति का उपाय करवा देते हैं। फिर वो हंसी खुशि उस घर मे रहते हैं।

READ :  A Real Horror Story - Ek Bhool Jisne Badal Di Zindagi

दोस्तों “हिन्दू धर्म शास्त्रो के मुताबिक भी अगर किसी व्यक्ति का मोह मरने के बाद किसी वस्तु में रह जाए तो उसके छुटकारे के लिए जरूरत मंद व्यक्तियों को दान दिया जाता है, और अतृप्त व्यक्ति की आत्मा के छुटकारे के लिए खास पूजा-अर्चना और शांति पाठ किए जाते हैंआज भी पमिनाबहन के वंशज-परिवार जन उस मकान में शांति से रह रहे हैं, और इस घटना के उपचार के बाद आगे कभी उस घर में कोई असामान्य घटना नहीं हुई है।

दोस्तों आपको यह कहानी पसंद आई हो तो प्लीज Like, और Comments जरूर करें।

Comments

  • a thought by पुनर्जन्म से जुडी 8 सच्ची घटनाएँ – SolutionBros.com

    […] ​Related Article: मकान मालिक का भूत […]

    Reply

  • a thought by Unsolved Mystery of My Life – SolutionBros.com

    […] Must Read: मकान मालिक का भूत […]

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Name and email are required