A Journey From Factory Worker to A Writer-Charles Dickens

A Journey From Factory Worker to A Writer - Charles Dickens

दोस्तों, आप लोगो में से बहुतों ने ‘ओलिवर टिवस्ट’ या ‘द पेरिश बॉयज प्रोग्रेस’ उपन्यास पढ़ा ही होगा, जो एक सड़क पर रहने वाले अनाथ लड़के की रोमांचक कहानी है। Charles Dickens

A Journey From Factory Worker to A Writer
A Journey From Factory Worker to A Writer

इस उपन्यास के रचयिता थे ब्रिटेन के मशहूर लेखक चालर्स डिकेन्स। चालर्स ने ‘डेविड कॉपरफील्ड’, ‘एक्सपेक्टेशन ‘ जैसे उपन्यास लिखे है।7 फरवरी 1812 को इंग्लैड के पोर्ट्स्माउथ में जन्मे चालर्स के पिता नेवल क्लर्क थे, जबकि माँ शिक्षिका। बहुत प्रयासों के बाबजूद उनके परिवार की आर्थिक स्थिती अच्छी नही हो सकी थी। फिर भी वे बहुत खुश थे। एक दिन पिता के अचानक जेल जाने के कारण चालर्स को अपना स्कूल छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा था।

READ :  Ratan Tata Biography – Success Story

Related Articles: रविन्द्र कौशिक उर्फ़ ब्लैक टाइगर – एक भारतीय जासूस जो बन गया था पाकिस्तानी सेना में मेजर


वे मामूली पैसे के लिए एक फैक्ट्री में काम करने लगे। यह कठीनाई गुजरते वक्त के साथ और बढ़ती गई। 15 वर्ष की उम्र में उन्हें ऑफिस बॉय के तौर पर भी काम करना पड़ा, लेकिन यही से उनकी लाइफ में यू-टर्न आया।

उनका लेखन के प्रति रुझान बढ़ा और एक वर्ष अंदर लन्दन के लॉ कोर्ट  के लिए फ्रीलांस  रिपोर्टिग करना शुरू कर दिया। अगले सालो में वे लन्दन के दी प्रमुख अखबारों के लिए रिपोर्टिग करने लगे। वे मैगजींस और न्यूजपेपर्स को काल्पनिक नाम से स्केचेज़ भेजते थे। 1836 में उनकी इन्ही कलिपिग्स पर एक किताब प्रकाशित हुई,’ स्केचेज़ बाइ बोज’।

READ :  रविन्द्र कौशिक उर्फ़ ब्लैक टाइगर – एक भारतीय जासूस जो बन गया था पाकिस्तानी सेना में मेजर

Related Articles: A True Story of Legendary Personality – सुल्ताना डाकू


इसी दौरान वे एक मैगजीन के प्रकाशक भी बने और अपने पहले नॉवेल ‘ओलिवर टिवस्ट’ का प्रकाशन किया। उन्होंने कई देशों की यात्राएं की और काफी प्रसिद्वि बटोरी। 58 बर्ष की उम्र में उनका देहांत हो गया।

दोस्तों आपको हमारी यह Post पसन्द आई हो तो Like, Comments और Share जरूर करें।

Comments

  • a thought by A Journey From Factory Worker to A Writer-Charl…

    […] दोस्तों, आप लोगो में से बहुतों ने 'ओलिवर टिवस्ट' या 'द पेरिश बॉयज प्रोग्रेस' उपन्यास पढ़ा ही होगा, जो एक सड़क पर रहने वाले अनाथ…. Charles Dickens  […]

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Name and email are required