Causes and Prevention of Thyroid

​दोस्तों आज हम बात कर रहे है Thyroid की l यह होता कैसे है तथा इसके लक्षण क्या होते है।
दोस्तों थाईरोएड हमारे शरीर का बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा होता है, और ये एक छोटी सी ग्रंथि  है जो हमारे गले के बीच में होती है, यह ग्रंथि शरीर में Harmones का निर्माण करती है और शरीर को healthy रखती है और ये मेटाबोलिज्म को control भी रखती है, इस ग्रंथि के अधिक सक्रिय या कम सक्रिय होने पर थॉयरायड से सम्बंधित परेशानिया होने लगती हैं।

थॉयरायड 2 प्रकार का होता है-

 

1. हाइपो थॉयरायड – जब थॉयरायड ग्रंथि बहुत धीरे काम करती है  तो शरीर में हॉर्मोन का संतुलन बिगड़ जाता है! इसमे जरूरी T3 और T4 होरमोन का संतुलन बिगड़ जाता है।

जिसके लक्षण  इस प्रकार है-

शरीर का वजन बढ़ना
अधिक ठण्ड महसूस होती है
मन किसी भी काम में नहीं लगता
अक्सर कब्ज व गैस की समस्या रहती है

2. हाइपर-थॉयरायड (Hyper-Thyroid) – जब थॉयरायड ग्रंथि काफी तेजी से कार्य करने लगती है। और अधिक हार्मोन निकल कर शरीर में व खून में मिलने लग जाता है तो ऐसी स्थिति उत्पन्न हो जाती है।

जिसके के लक्षण इस प्रकार है-

अधिक भूख लगना

शरीर की मास्पेशियो का कमजोर पड़ना

व्यक्ति निराश रहने लगता है

नींद नहीं आने की समस्या होने लगती है

थॉयरायड की पहचान के लक्षण

अनावश्यक तरीके से वजन का बढ़ना या धटना

READ :  Causes and Prevention of Heart Attack

आवाज का भारी होना

गर्दन के निचले भाग में सुजन अथवा गांठ और दर्द की समस्या होना

बोलने या कोई काम करने पर साँस फूलने लगना

साँस लेने में परेशानी होना

भूख का अनियंत्रित हो जाना

(Depression ) डिप्रेशन में पड़ जाना

नींद या अनिद्रा की परेशानी

स्किन का रूखा या खुरदुरा पड़ना

स्किन से सम्बंधित बिमारिया होना

अधिक ठण्ड महसूस करना

पिच्युटरी ग्रंथि और Thyroid ग्रंथिया एक साथ काम करती है जिससे शरीर का तापमान नियंत्रित कर सके। Thyroid ग्लैंड के असामान्य रूप से कार्य करने पर व्यक्ति को ठण्ड का अनुभव होता है।और शरीर ठंडा होने लगता है।पिच्युट्री ग्रंथी TSH अधिक मात्रा में उत्पन्न होने लगता है।सामान्य व्यक्ति के शरीर में Thyroid ग्रंथिया T4 हार्मोन का स्राव करके शरीर का तापमान सामान्य कर देती है जो मौसम के अनुसार शरीर का तापमान ठंडा और गरम रखती है।ठण्ड अधिक होने पर TSH अधिक और गर्मी अधिक होने पर TSH घट जाता है।

Thyroid की बीमारी महिलाओ को अधिक होती है आइये इसका कारण जानते हैं

महिलाये अधिक तनाव व अवसाद होने के कारण इसकी गिरफ्त में आसानी से आ जाती है, एक servey के अनुसार 100 में से 70% महिलाये इस रोग से पीड़ित होती हैं। लेकिन अधिकतर लोगो को पता नहीं चल पाता के वे इस बीमारी से पीड़ित है। लापरवाही बरतने पर मोटापा, डिप्रेशन, अवसाद, बाझपन, जैसी अनेक समस्याए हो जाती हैइसलिए हर पाच साल में कम से कम एक बार महिलाओं की अपनी जाँच करते रहना चाहिए।
उज्जयी आसन से हमे Thyroid में लाभ मिल सकता है
उज्जयी आसन Thyroid रोगियों को जरूर करना चाहिए  कम से कम रोजाना 1 बार अवश्य करें उस से  लाभ हो सकता है, लम्बे समय तक करने से इससे बहुत  लाभ होते देखे गए है, उज्जायी आसन से Thyroid पूरी तरह जड़ से ख़तम हो सकता है, इसे आप नियमित रूप से जीवन का हिस्सा बना ले ।इस से आपको आवश्य लाभ होगा।

READ :  Top 8 Health Tips to Boost Your Immune System

दिनचर्या मे योग
किसी भी व्यक्ति को अपना जीवन संयमित रखना चाहिए और योग अवश्य करन चाहिए इस से बहूत लाभ होता है, योग के जरिये थॉयरायड ग्रंथि की परेशानिया ठीक हो सकती है इससे ये ग्रंथि सक्रीय हो कर सुचारू रूप से कार्य करती है वजन न बढ़ने दे।

वजन न बढ़ने दे
सोते हुए या लेटे हुए भोजन न करे और न ही tv, कंप्यूटर इत्यादी चलाये।
आजकल लोग मोबाइल का इस्तेमाल बहूत अधिक करने लगे है लगातार लम्बे समय तक इसका इस्तेमाल करने पर ये समस्या बढ़ सकती है।

कोशिश करे के तकिया न लगाए और लगाना ही चाहते है तो बेहद पतली तकिया इस्तेमाल करें, जिससे गर्दन सीधे ही रहे।हमेशा नींद पूरी ले।और आप एक्यूप्रेशर ट्रीटमेंट का भी इस्तेमाल कर सकते है

READ :  Benefits of Using Face Cream in Night

 

खान-पान की सावधानिया-
Thyroid के रोगी को खाने में आयोडीन युक्त भोजन करना चाहिए।आयोडीन नमक के अलावा समुद्री मछली और समुद्री जीवो और समुद्री शेवाल भी अच्छा स्त्रोत है इनसे आप आयोडीन भोजन प्राप्त कर सकते है।

हरी साग-सब्जियाँ व पत्तेदार ताजी सब्जिया अधिक खाएं, हरी मिर्च, धनिया, प्याज, लहसुन टमाटर, बहुत फायदेमंद होती है।

विटामिन डी (Vitamin D) युक्त पदार्थ; दूध, गाजर, अंडे, समुद्री मछली, मशरूम का प्रयोग करे।

अखरोट, बादाम, सूरजमुखी के बीज, सूखे मेवे खाने चाहिए ये फायदेमंद होते है।

नारियल, दही, गाय का दूध, नारियल तेल, पनीर भी अच्छा व लाभकारी होता है।
थाइरोइड  मरीज को क्या नहीं खाना चाहिए

सिगरेट और इसके धुएं से बचे इसमे मौजूद थायनोसाईनेट Thyroid ग्रंथि को नुकसान पहुचता है, शराब और किसी भी प्रकार के नशे से बचें।
ब्रोकली, फूलगोभी और पत्तागोभी नहीं खाना चाहिए ये थाइरोइड में नुक्सानदायक होते है।
ये सब सावधानीयां और उपाय अपना कर आप थाइरोइड जैसी बड़ी समस्या से अपना बचाव कर सकते है! तथा हर 5-6 महीने में अपनी Thyroid जाँच जरूर करवानी चाहिए और चिकित्सक सलाह करके अपनी दवाई नियमित रूप से ले।

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Name and email are required