इसको नही लगता है कीटों से डर | A Person Famous by Insects

Insects

​दोस्तों आज में आपको ऐसे युवक के बारे में बताने जा रही हूँ। जिसने लोकप्रियता पाने के लिए डरावने कीटों (Insects) की मदद ली है।
तो आइए जानते हैं उस युवक के बारे में।

19 वर्षीय जर्मन युवक एड्रियन कोजाकीविज के हाथों और चेहरे पर दिन में कई बार डरावने किट घूमते हैं, वह भी किसी जंगल में नही उसके घर पर। दरअसल, यह युवक इन कीटों के साथ अपनी तरह-तरह की फोटोज़ व वीडियो Social Media पर नियमित रूप से अपलोड करता रहता है। जिन्हें खूब पसंद किया जा रहा और इनकी ही बदौलत आज वह इंटरनेट पर खूब लोकप्रिय हैं।

जर्मनी के पशिचमी शहर कल्सर्रुह स्थित अपने घर के तहखाने में उसने कई तरह के किट पाल रखे है। वह खुद को यूरोप का सबसे  युवा किट पालक कहता है। तहखाने में लकड़ी की शेल्फों पर प्लास्टिक के बक्सो में कई अनूठी प्रजातियों के कीटो पाले जा रहे है।

READ :  भारत के 31 आश्चर्यजनक तथ्य | Interesting-Amazing Facts About India_Part 2

दोस्तों आपको यह जान कर हैरानी होगी की Facebook पर उसका पेज ‘बग्स एंड साइंस’ भी खूब लोकप्रिय है। जिसे 2 लाख 70 हज़ार लोग Subscribe कर चुके है, और उसके YouTube Channel पर अपलोड किए वीडियोज को हर सप्ताह 20 लाख बार देखा जा रहा है। कैमरे के सामने वह कीटो को अपने हाथों तथा चेहरे पर खुला घूमने देता है। उसके ऐसे वीडियो किट प्रेमियों में खूब पसंद किए जा रहे है। Insects

भारत के 31 आश्चर्यजनक तथ्य | Interesting & Amazing Facts About India_Part 1

सबसे ज्यादा पसंद है प्रेइग मेटिस।

उसके पास एक खास किट विश्व का सबसे बड़ा कॉक्रोच भी है, परंतु उसे तो सबसे ज्यादा लगाव प्रेइग मैटिस नामक किट से ही है। Insects

उसके सँग्रह में 70 अलग-अलग प्रजातियों के 700 प्रेइग मैटिस है। लम्बी-लम्बी टांगो वाले इन कीटो का सिर तिकोना तथा आँखे बाहर को होती है। इन्हें देख कर ऐसा प्रतीत होता है इन्होंने प्रर्थना करने के लिए अपने हाथ जोड़ रखे हों।इसी वजह से इनका नाम प्रेइग मैटिस (प्रर्थना करने वाले मैटिस) पड़ा है।

कुछ मैटिस घास जैसे हरे रंग के होते है तो कुछ फूलो जैसे बेहद कोमल होते है। कुछ तो पतों के रंग के अनुरूप अपना रंग बदल सकते हैं। वह साल में एक-दो बार एशियाई देशो विशेषकर थाईलेंड तथा मलेशिया की यात्रा करता है। ताकि वहाँ से प्रेइग मैटिस व अन्य कीटों को जमा कर सके।

READ :  क्या सच में कभी मंगल ग्रह पर जीवन था जो एक एलियन युद्ध में खत्म हो गया ??

बचपन से ही कीटों से लगाव

8वर्ष पहले अपने परिवार के साथ पोलैड़ से जर्मनी आकर बसे इस युवक को बचपन से ही कीटों से लगाव रहा हैं। अब उसने इन कीटों के बारे मे काफी ज्ञान भी जुटा लिया है, और उसे इनके बारे के काफी कुछ पता है। मिडल लेवल स्कूल से डिप्लोमा पूरा करने के बाद उसने कल्सरुह नैचरूल हिस्ट्री म्यूजियम में काम किया और किट पालन गतिविधियों को आगे बढ़ाने के साथ-साथ ऑनलाइन फर्म ‘ इसैक्टहॉस ‘ की स्थापना भी की।

अब वह कीटों पर एक किताब लिख रहा है और पाले हुए कीटों को इनके सँग्रह में रूचि रखने वाले से लेकर  शोधकर्ताओ तक को जर्मनी, अन्य यूरोपीय देशो तथा अमेरिका से बेच रहा हैं।

READ :  22 Interesting Facts About Earth in Hindi - Part 1

दोस्तों आपको हमारी अजब-गजब Post पसंद आई हो तो Please Likes, Comments & Share जरूर करें।

Comments

Leave a Reply

Your email address will not be published. Name and email are required