Vijay Shekhar Sharma Success Story – Paytm Founder

Paytm Founder: दोस्तों आज मे आपको ऐसे सख्स की कहानी बताना चाहूंगी जिसने अपने मजबूत इरादों और दृढ़ निश्चय से दुनिया मे अपनी एक अलग पहचान बनाई। दोस्तों मै बात कर रही हूँ विजय शेखर शर्मा जी की जो कि आज भारत की जानी-मानी कंपनी पेटीएम के Founder और CEO हैं। 

आईयेे जानते हैं विजय शेखर शर्मा जी की सफलता की कहानी –
दोस्तों विजय शेखर शर्मा जी  का जन्म उत्तर प्रदेश के अलीगढ जिले के एक छोटे से गांव विजयगढ़ में 8 जुलाई 1973 को हुआ था। और इनकी शुरूआती पढाई एक हिंदी मीडियम स्कूल में हुई थी । उसके पश्चात् उच्च शिक्षा के लिये वो दिल्ली आ गए । उसके पश्चात उन्होंने दिल्ली कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग में एडमिशन लिया, परंतु यहाँ के उन्हें  अंग्रेजी भाषा का सामना करना पड़ा। क्योंकि वो हिंदी मीडियम स्कूल से पढ कर आये थे। इसलिये अंग्रेेजी न आने की वजह से यहां उन्हें बहुत परेशानी का सामना करना पडा, लेकिन अंग्रेजी न आने की वजह से उन्होंने हिम्मत नही हारी।

READ :  A True Story of Legendary Personality - सुल्ताना डाकू

दोस्तों विजय एक मिडिल क्लास परिवार के थे, तथा वो पैसे की अहमियत जानते थे, जब वह कॉलेज मे पढाई कर रहे थे तभी उनके दिमाग मे एक आईडिया आया क्यु न बिज़नेस किया जाये। वो भी पढ़ाई के दौरान ही, फिर उन्होंने अपने एक दोस्त के साथ मिलकर बिज़नेस शुरू कर दिया था, फिर  कुछ समय पश्चात् उन्होंने उसे अमेरिकन कंपनी लोटस इंटरवर्क्स को बेच दिया और अपनी ही कंपनी में नौकरी करने लग गये इससे उन्हें अच्छा खासा मुनाफा हुआ, फिर करीब एक साल बाद कुछ अलग करने के लिये उन्होंने इस कंपनी की नौकरी को छोड दिया।

नौकरी छोडने के बाद उन्होनें अपनी एक नई कंपनी शुरू करने की सोची जिसका नाम उन्होंने One97  रखा। लेकिन यह ठीक से नहीं चल पायी, सालभर में उन्हें काफी घाटा झेेलना पडा, हालत इतनी खराब हो गयी कि एक-एक पैसे बचाने के लिए उन्हें काफी मेहनत करनी पडती थी. यहाँ तक की बस का किराया बचाने के लिये वह पैदल चलते थे. कभी-कभी पूरा दिन सिर्फ दो प्याली चाय पर ही गुजर जाता था, तथा उनसे  कोई शादी करने को भी तैयार नहीं था, इस बीच वह लोगों के घर जाकर Computer Repair  करने का काम करते थे।

READ :  Success Story of Larry Page - Google CEO

दोस्तों उस टाइम विजय जी  के जीवन में छुट्टे पैसे बहुत अहम थे, लेकिन उन्होने देखा कि चाहें ऑटो वाला हो, चाहे दुकान वाला या रिक्शेे वाला सभी जगह उन्हें छुट्टे पैसे के लिये बहुत परेशान होना पडता था और यहीं से उनके दिमाग में आयडिया आया Paytm बनाने का। तथा उन्होंने पेटीम की शुरुआत 2010 मे की।

दोस्तों विजय जी की जिंदगी में एक बड़ा बदलाव उस समय आया जब paytm ने घरेलू और भारत मे होने वाले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच के लिए टाइटल स्पांसर बनने का मौका मिला। आज छुट्टों और छोटे-छोटे लेन-देन की बदौलत कम्पनी का कुल कारोबार 15,000 करोड़ रुपये के करीब पहुंच चुका है और आज ज्यादतर लोग छुट्टे के लिये पेेटीएम करते हैं तथा आज उनका दुनिया मे नाम है।

READ :  Ratan Tata Biography – Success Story

तो दोस्तों विजय जी की तरह हमे भी अपने जीवन मे कभी हार नही माननी चाहिए पता नही होता कब किस्मत बदल जाये।

दोस्तों आपको हमारी यह परेणाधायक कहानी अच्छी लगी हो तो प्लीज Likeस् और Comments जरूर करें।

Comments

  • a thought by Success Story of Larry Page – Google CEO – SolutionBros.com

    […] Read More: Vijay Shekhar Sharma Success Story – Paytm Founder […]

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Name and email are required